महत्वपूर्ण प्रश्नों के बारे में निर्णय करते समय ‘ठोस‘ और ‘कमजोर‘ तर्क में प्रभेद कर सकना वांछनीय होता है। ‘ठोस‘ तर्क महतवपूर्ण और प्रश्न से सीधे संबंधित होते हैं। ‘कमजोर‘ तर्क कम महत्वपूर्ण होते हैं और प्रश्न से सीधे संबंधित नहीं भी हो सकते हैं या फिर प्रश्न के किसी नगण्य पहलू से संबंधित हो सकते हैं।
नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न के बाद दो तर्क I और II दिए गए हैं। आपको यह तय करना है कि कौन-सा तर्क ‘ठोस‘ है और कौन-सा तर्क ‘कमजोर‘ हैं।
उत्तर (1) दीजिए यदि केवल तर्क I ठोस है।
उत्तर (2) दीजिए यदि केवल तर्क II ठोस है।
उत्तर (3) दीजिए यदि या तो तर्क I या तर्क II ठोस है।
उत्तर (4) दीजिए यदि न तो तर्क I और न ही तर्क II ठोस है।
उत्तर (5) दीजिए यदि तर्क I और तर्क II दोनों ठोस है।

Results

-

1) कथन: क्या न्यायिक सक्रियता को हतोत्साहित किया जाना चाहिए ?
तर्क:
I. नहीं, यदि हम हर चीज अधिकारियों के भरोसे छोड़ देते हैं जो न्याय स्वप्न मात्र रह जाएगा।
II. हाँ, न्याय प्रक्रिया को अपने विषयों से संबंधित रहना चाहिए। अधिकारी अपना काम करेंगे।

2) कथन: क्या बच्चों को उनके अभिभावकों की वृद्धावस्था में उनकी देखभाल करने के लिए कानूनी तौर पर जिम्मेदार बना दिया जाए ?
तर्क:
I. हाँ, ऐसे मामले केवल कानूनी तरीकों से ही हल किए जा सकते हैं।
II. नहीं, केवल इसी से निस्सहाय अभिभावकों को कुछ राहत मिलेगी।

3) कथन: क्या भारत में शराब की बिक्री पर संपूर्ण प्रतिबंध लागू होना चाहिए ?
तर्क:
I. हाँ, इससे अधिकांश लोगों के स्वास्थ्य में भारी सुधार होगा, क्योंकि शराब खरीदने में इस्तेमाल होने वाला धन का दूसरी वस्तुएँ खरीदने के लिए इस्तेमाल होगा।
II. नहीं, भारत को शराब से उगाहे जाने वाले उत्पाद शुल्क से भारी राशि प्राप्त होती है और इससे सरकारी आमदनी में भारी गिरावट होगी तथा आमदनी व खर्च के बीच अंतर बढ़ेगा।

4) कथन: क्या भारत को व्यापक परमाणु परीक्षण निषेध संधि (सीटीबीटी) पर हस्ताक्षर करने चाहिए ?
तर्क:
I. नहीं, यदि भारत ऐसा करता है तो वह अपनी प्रभुसत्ता को कायम नहीं रख पाएगा।
II. हाँ, एशियाई उप-महाद्वीप में तनाव कम करने का यही एकमात्र तरीका है।

5) कथन: क्या भारत में स्कूली शिक्षा को निःशुल्क बना दिया जाए ?
तर्क:
I. हाँ, साक्षरता के स्तर में सुधार लाने का यही एकमात्र तरीका हैं।
II. नहीं, इससे राजकोष पर पहले से मौजूद भारी बोझा में इजाफा होगा।

6) कथन: क्या स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के लिए शिक्षण शुल्क में भारी वृद्धि की जानी चाहिए ?
तर्क:
I. हाँ, इससे विद्यार्थियों ंके बीच गंभीरता का कुछ अहसास पनपेगा और गुणवत्ता में सुधार होगा।
II. नहीं, इससे योग्य निर्धन छात्र स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों से वंचित हो जाएंगे।

7) कथन: क्या भारत को अपने विशाल आर्थिक इलाको में समुद्र के भीतर उपलब्ध संसाधनों की संभावना तलाशने के लिए बहुराष्ट्रीय कंपनियों को अनुमति देनी चाहिए ?
तर्क:
I. हाँ, ऐसे अभियान चलाने के लिए भारत के पस पर्याप्त तकनीकी और वित्तीय संसाधन मौजूद नहीं हैं।
II. नहीं, इससे देश की प्रभुसत्ता को खतरा होगा।

8) कथन: क्या भारत में पटाखों के निर्माण पर संपूर्ण प्रतिबंध होना चाहिए ?
तर्क:
I. नहीं, इससे हजारों कामगार बेरोजगार हो जाएंगे।
II. हाँ, पटाखा निर्माता अधिकतर श्रमिक के रूप में बच्चों को इस्तेमाल करते हैं।

9) कथन: क्या स्कूल शिक्षकों के निजी ट्यूशन करने पर रोक लगाई जाए ?
तर्क:
I. हाँ, केवल तभी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार आएगा।
II. हाँ, अब शिक्षकों का वेतन युक्तिसंगत है।

10) कथन: क्या हमें भारत में ‘सार्वजनिक वितरण प्रणाली‘ को समाप्त कर देना चाहिए ?
तर्क:
I. हां, बचाव का समय समाप्त हो गया है और हर किसी को स्वयं अपनी रोजी-रोटी हासिल करनी चाहिए।
II. हाँ, निर्धनों को भ्रष्टाचार के कारण कोई लाभ नहीं मिल पाता हैं।

11) कथन: क्या भारत की वर्तमान शिक्षा प्रणाली में अंतिम परीक्षाओं को बिल्कुल समाप्त कर दिया जाना चाहिए ?
तर्क:
I. नहीं, यह सभी विद्यार्थियों का एक सर्वसामान्य मापदंड से मूल्यांकन करने का तरीका हैं।
II. हाँ, यह अपनी उपयोगिता पूरी कर चुकी हैं।

12) कथन: क्या सरकार को प्रत्येक जिले के प्रत्येक उप-मंडल में भली-भांति सुसज्जित अस्पताल खोलना चाहिए ?
तर्क:
I. हाँ, प्रत्येक नागरिक का स्वास्थ्य और कल्याण सरकार का मूलभुत उत्तरदायित्व हैं।
II. नहीं, यह संभव नहीं हैं। सरकार की सहायता करने के लिए समाज को आगे आना चाहिए।

13) कथन: क्या भारत में व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में खुली पुस्तक परीक्षा प्रणाली आरंभ की जाए ?
तर्क:
I. नहीं, इससे मौजूदा परीक्षा प्रणाली के अभिप्राय और महत्व में कोई गंभीर सुधार नहीं आएगा।
II. हाँ, सभी अभ्यर्थी आसानी से उत्तीर्ण होकर अपना व्यावसायिक जीवन आरंभ कर सकते हैं।

14) कथन: क्या भारत को अपनी अर्थव्यवस्था के उदारीकरण की नीति जारी रखनी चाहिए ?
तर्क:
I. हां, सभी विकासशील देश यही कर रहे हैं।
II. नहीं, हमें वेतनभोगी कर्मचारियों के अधिकारों और मांगों की रक्षा करनी चाहिए।

15) कथन: क्या सरकारी कर्मचारियों की छुट्टियों की संख्या कम कर दी जाए ?
तर्क:
I. हाँ, हमारे सरकारी कर्मचारी विश्व के दूसरे देशों के मुकाबले अधिकतम छुट्टियों का लाभ उठा रहे हैं।
II. हाँ, इसके परिणामस्वरूप सरकारी कार्यालयों की उत्पादकता बढ़ेगी।

16) कथन: क्या सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर समूहों/जातियों के लिए पदो के आरक्षण की नीति निजी क्षेत्र में भी आरंभ की जाए ?
तर्क:
I. हां, इससे इन समूहों/जातियों के विकास के लिए अधिक अवसर उपलब्ध होंगे।
II. नहीं, पूरे विश्व में कहां और ऐसी प्रक्रिया का अनुपालन नहीं किया जा रहा हैं।

17) कथन: क्या भारत में स्कूली शिक्षा के दौरान व्यावसायिक पाठ्यक्रम अनिवार्य होना चाहिए ?
तर्क:
I. हां, यह अधिकांश विद्यार्थियों के लिए शिक्षा को और अधिक अर्थपूर्ण तथा व्यावहारिक बना देगा क्योंकि यह वास्तविक जीवन की परिस्थितियों के निकट हैं।
II. नहीं, विद्यार्थियों के पास विकल्प होना चाहिए कि वे व्यावसायिक पाठ्यक्रम का चयन करें या नहीं क्योंकि उनमें से कुछ साहित्य और दूसरे क्षेत्रों का अनुसरण करना चाहेंगे।

18) कथन: क्या भारतीय सेना में महिलाओं को सीमा पर तैनात किया जाना चाहिए ?
तर्क:
I. नहीं, महिलाएं प्रतिकूल परिस्थितियों को सहन कर पाने में समर्थ नहीं हो पाएंगी।
II. हाँ, पुरूष और महिला के बीच कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए।

19) कथन: क्या भारत में मतदान की आयु बढ़ाकर 21 वर्ष कर दी जाए ?
तर्क:
I. नहीं, किसी चलन को बदलना कठिन हैं।
II. हाँ, आयु के साथ-साथ लोगों में जिम्मेदारी के अहसास और परिपक्वता का उच्चतर स्तर विकसित होता हैं।

20) कथन: क्या निजी कंपनियों को भारत में परिवहन सेवाएँ परिचालित करने की अनुमति दी जानी चाहिए ?
तर्क:
I. हाँ, इससे भारतीय रेलों में सेवा की गुणवत्ता में सुधार होगा तथा इसे कड़ी स्पर्धा का सामना करना पड़ेगा।
II. नहीं, निजी कंपनियाँ अलाभप्रद क्षेत्रों में परिचालन करने से मना कर सकती हैं।

टेस्ट सबमिट करें
कथन एवं तर्क प्रश्न डेली करंट अफेयर्स के लिए क्लिक करे|

Leave a Comment